अक्षय तृतीया- बकवास और सच

1- अक्षय तृतीया के दिन सोना खरीदने का विज्ञापन पिछले एक माह से बहुत सारे समाचार पत्रों में तो देखने मिल ही रहा है WhatsApp पर भी इस तरह के मैसेज आ रहे हैं ।2- इसके अलावा बहुत सारे पोस्ट ऐसे दिख रहे हैं जिसमें यह बताया जा रहा है कि अक्षय तृतीया के दिन …

Continue reading अक्षय तृतीया- बकवास और सच

श्वासों की गति पर निर्भर आपका स्वास्थ्य

त्रेता युग में जो लड़ाई दो प्रदेशों के बीच रहा और द्वापर आते आते वही लड़ाई प्रदेश से निकल कर परिवार में प्रवेश कर गया, वही लड़ाई कलयुग में परिवार से निकलकर व्यक्ति के भीतर ही प्रवेश पा चुका है | जहाँ त्रेता में अंधकार और प्रकाश को बड़ी सरलता से पृथक किया जा सकता …

Continue reading श्वासों की गति पर निर्भर आपका स्वास्थ्य

नयी व्यवस्था- नया भारत

भारतवर्ष की चलनेवाली दशा और ग्रहों के संचार के आधार पर 9 दिसंबर 2019 को मैंने अपने आलेख '2020', में यह लिखा - ' चुनावी प्रक्रिया को लेकर महत्वपूर्ण संवैधानिक संशोधन का संकेत है..' हम सब जानते हैं कि इस तरह की घटनाएं रातों रात नहीं होती| इस वर्ष ( 2022 ) के चैत्र शुक्ल …

Continue reading नयी व्यवस्था- नया भारत

चैत्र नवरात्रि- ऐश्वर्य और समृद्धि के लिए ऐसे करें मंत्र जप

चैत्र मासे जगद्ब्रह्म समग्रे प्रथमेऽनि शुक्ल पक्षे समग्रे तु सदा सूर्योदये सति                                       -(ब्रह्म पुराण) ब्रह्म पुराण के अनुसार चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को ही  सृष्टि का निर्माण हुआ था। अथर्ववेद में भी इस बात का संकेत मिलता है| नव संवत्सर का आरंभ यहाँ से माना जाता है| शास्त्र के अनुसार  इस समय चन्द्रमा से जीवनदायी …

Continue reading चैत्र नवरात्रि- ऐश्वर्य और समृद्धि के लिए ऐसे करें मंत्र जप

हठहंता योग

कुंडली में, चन्द्रमा यदि ग्यारहवें स्थान में हो और सूर्य कर्क राशि में हो तो ऐसा व्यक्ति अपनी मूर्खता से जान गंवा देता है| सतर्क रहें| सचेत रहें|स्वस्थ रहें|बचाव जरूरी है|

ज्योतिष

ज्योतिष को ज्ञान की तरह स्थापित करने के बजाय इसका धंधा शुरू हो गया.. ज्योतिष को कथावाचन बना दिया .. कैसे कैसे अजीब लोग आ गए यहाँ.. कभी ये सोचने की कोशिश की, कि ज्ञान की वैदिक परंपरा जब हम तक पहुँचती है तो कुंडली का रूप लेकर क्यों आती है ... कभी इसको सोचने …

Continue reading ज्योतिष

वर्ष 2022 कैसा रहेगा देश के लिए: एक ज्योतिषीय विश्लेषण

किसी चीज को जानना ज्ञान है, उसे पहचानना विज्ञान है और उसके साथ एकात्म स्थापित करना ज्योतिष है| समग्रता और विविधता के बीच का एकात्म ज्योतिष है| ज्योतिष के अनुसार भले ही सारी चीजें भिन्न भिन्न प्रतीत होती हैं लेकिन उस विविधता के भीतर एकत्व कार्य कर रहा है| जब यह एकत्व स्थापित हो जाता …

Continue reading वर्ष 2022 कैसा रहेगा देश के लिए: एक ज्योतिषीय विश्लेषण