कलयुग का यह काल

कृपाचार्य ने जब अर्जुन के साथ कर्ण के युद्ध पर सवाल उठाए थे तब दुर्योधन ने कर्ण को अंगेश बनाकर न केवल कृपाचार्य के सवालों का जवाब दिया बल्कि आजीवन कर्ण को अपना ॠणी बनाया। कर्ण और दुर्योधन की दोस्ती की नींव डली । महाभारत काल में यह एक महत्वपूर्ण और निर्णायक मोड़ है। कलयुग …

Continue reading कलयुग का यह काल

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव

17 अगस्त को अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानी कब्जे के बाद पहली बार उनके प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने प्रेस कांफ्रेंस के जरिये विश्व से संवाद स्थापित किया| बात का सार यह था कि जो कोई भी इस्लाम के नियम से चलेगा उसे यहाँ कोई परेशानी नहीं होगी|लोगों के जीवन जीने का ढंग, रहन-सहन सब उनकी धार्मिक आस्थाओं …

Continue reading अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव

सूर्य का विचलन-जलवायु परिवर्तन, प्राकृतिक आपदा और युद्ध के हालात

  विगत कुछ वर्षों के अपने शोध में मैंने सूर्य को विचलित होते हुए देखा है |पूरे विश्व का पोषण करने वाला सूर्य भी विचलित हो सकता है ?? लगातार निर्विकार रूप से हर किसी को अपनी रश्मियों के माध्यम से ऊर्जावान बनानेवाला सूर्य भी विचलित हो सकता है ?? कौन है जो ऊर्जा के …

Continue reading सूर्य का विचलन-जलवायु परिवर्तन, प्राकृतिक आपदा और युद्ध के हालात

#ज्योतिषशास्त्र #प्रत्यक्षशास्त्र ( ‘आप’ की सरकार’ )

दिल्ली विधानसभा चुनाव के पहले मैने ग्रहों के संकेत को पढ़ने का प्रयास किया। आम आदमी पार्टी की सत्ता में वापसी हुई।   ज्योतिष हमें हर वक्त चौंकाता है। इस बार भी इसने हमें चौंकाते हुए कुंडली विश्लेषण का एक नया आयाम दिखाया।   मैने कालचक्र दशा के अनुसार अपने विश्लेषण में यह कहा है …

Continue reading #ज्योतिषशास्त्र #प्रत्यक्षशास्त्र ( ‘आप’ की सरकार’ )

#ज्योतिषशास्त्र #प्रत्यक्षशास्त्र

26 सितम्बर को ग्रहों के संकेत के अनुसार ,अमेरिका की कुंडली से मैंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बारे में अपना ज्योतिषीय विश्लेषण दिया था |ग्रहों के अनुसार राष्ट्रपति ट्रम्प के महाभियोग के आरोप से बरी हो जाने का संकेत था |

भारत के भाल पर फिर से मुकुट की तरह स्थापित हो ज्योतिष

कुछ समय पहले से मैं भिन्न भिन्न आयामों पर लिखती चली आ रही हूँ | आज कुछ अन्य आयामों की चर्चा ज्योतिष को लेकर की जाने वाली साजिश और काल चक्र दशा के माध्यम से इस आलेख में होगी | 2 फरबरी 1835 को लार्ड मकौले ने, ब्रिटिश पार्लियामेंट में ,भारत के बारे में कहा …

Continue reading भारत के भाल पर फिर से मुकुट की तरह स्थापित हो ज्योतिष