कलयुग का यह काल

कृपाचार्य ने जब अर्जुन के साथ कर्ण के युद्ध पर सवाल उठाए थे तब दुर्योधन ने कर्ण को अंगेश बनाकर न केवल कृपाचार्य के सवालों का जवाब दिया बल्कि आजीवन कर्ण को अपना ॠणी बनाया। कर्ण और दुर्योधन की दोस्ती की नींव डली । महाभारत काल में यह एक महत्वपूर्ण और निर्णायक मोड़ है। कलयुग …

Continue reading कलयुग का यह काल

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव

17 अगस्त को अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानी कब्जे के बाद पहली बार उनके प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने प्रेस कांफ्रेंस के जरिये विश्व से संवाद स्थापित किया| बात का सार यह था कि जो कोई भी इस्लाम के नियम से चलेगा उसे यहाँ कोई परेशानी नहीं होगी|लोगों के जीवन जीने का ढंग, रहन-सहन सब उनकी धार्मिक आस्थाओं …

Continue reading अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव

आषाढ़ पंचमी

फोटो, साभार: Google ज्योतिषशास्त्र कभी भी एकांगी होकर बात नहीं करता है| कभी भी एक सूत्रीय फार्मूला नहीं देता है| मानसून में कितनी होगी बारिश इसके फलादेश हेतु सूर्य के धनु राशि में प्रवेश से ही बहुआयामी विश्लेषण करना प्रारम्भ किया जाता है| इन सभी के बारे में मैंने पहले यहाँ चर्चा की है|  इसी …

Continue reading आषाढ़ पंचमी

पर्यावरण और ज्योतिष

फोटो, साभार: Google ज्योतिष में राशियों को उनके तत्वों के आधार पर अग्नि तत्व राशि , पृथ्वी तत्व राशि, वायु तत्व राशि और जल तत्व राशि में बांटा गया है। इन सभी में निहित गूढ़ार्थ को समझने की जरूरत है। इन सबके बीच उपस्थित आकाश तत्व को समझने की जरूरत है। अकेले पृथ्वी तत्व को …

Continue reading पर्यावरण और ज्योतिष

विश्व पर्यावरण दिवस

फोटो, साभार: Google ॐ द्यौ: शान्तिरन्तरिक्षं शान्ति: पृथिवी शान्तिराप: शान्तिरोषधय: शान्ति:। वनस्पतय: शान्तिर्विश्वेदेवा: शान्तिर्ब्रह्म शान्ति: सर्वं शान्ति:, शान्तिरेव शान्ति: सा मा शान्तिरेधि ॥ सर्वत्र जो शांति विराजमान है, वो शांति जो बाहर तो सब जगह है किंतु मुझमें नहीं है, मेरे भीतर नहीं है। वही शांति मुझे भी प्राप्त हो। ॐ शान्ति: शान्ति: शान्ति: ॥ …

Continue reading विश्व पर्यावरण दिवस

राष्ट्रों के वरीयता क्रम में बड़ा फेर बदल

चंद्र वर्ष प्रवेश कुंडली ..( वर्तमान वर्ष ).. भारत,चीन,अमेरिका और रूस.. इन चारों राष्ट्रों की चलने वाली दशा और चंद्र वर्ष प्रवेश कुंडली का तुलनात्मक अध्ययन करने के बाद इनके लिए ग्रहों के क्या संकेत हैं.. आइए देखें.. A - भारत ( कुंडली में ध्यानस्थ ग्रह - शनि, बुध,केतु ) 1 -कोरोना विषाणु संक्रमण को …

Continue reading राष्ट्रों के वरीयता क्रम में बड़ा फेर बदल