कलयुग का यह काल

कृपाचार्य ने जब अर्जुन के साथ कर्ण के युद्ध पर सवाल उठाए थे तब दुर्योधन ने कर्ण को अंगेश बनाकर न केवल कृपाचार्य के सवालों का जवाब दिया बल्कि आजीवन कर्ण को अपना ॠणी बनाया। कर्ण और दुर्योधन की दोस्ती की नींव डली । महाभारत काल में यह एक महत्वपूर्ण और निर्णायक मोड़ है। कलयुग …

Continue reading कलयुग का यह काल

अपने स्वास्थ्य के नियंता स्वयं बनिए

कोरोना संक्रमण से बाहर आने के बाद सोचती कि अब लिखना शुरू करना है, कोई ऐसी खबर आ जाती कि फिर लिखना रह ही जाता था| लेकिन इससे हमें बाहर तो आना होगा| इस तरह तो जिया नहीं जा सकता| हिम्मत करके मैंने लिखने का मन बनाया है| इस आलेख को लिखने के पीछे कुछ …

Continue reading अपने स्वास्थ्य के नियंता स्वयं बनिए

हृदय रोग(Heart Disease) से कैसे रहें दूर

फोटो, साभार: गूगल वसुधैव कुटुंबकम की बात करने वाला देश भारत का दिल क्या इतना मजबूत है कि वह पूरी बसुधा को एक परिवार की भांति रख सके| एक सर्वे के अनुसार विश्व के कुल हृदय रोगियों में 60 प्रतिशत सिर्फ भारत में हैं| चौंकाने वाली बात यह है कि बच्चों में दिल की बीमारी …

Continue reading हृदय रोग(Heart Disease) से कैसे रहें दूर

ज्योतिष और चिकित्सा विज्ञान

ज्योतिष और चिकित्सा विज्ञान एक साथ एक मंच पर आये ज्योतिष के द्वारा कैसे हो रक्तचाप और दिल के रोग का उपचार .. मुख्य अतिथि के रूप में मेरी सहभागिता रही  

नकारात्मकता से बाहर आना चाहते हैं तो इसे जानिये

  तेज रफ़्तार जिंदगी , फटाफट सब कुछ पा लेने की चाहत ने आज सभी को अपने चपेट में ले रखा है |नतीजा असंतुलन | मानसिक असंतुलन , व्यावसायिक असंतुलन , सामाजिक असंतुलन ,भावनात्मक असंतुलन आदि आदि |इन सब की वजह से धीरे धीरे नकारात्मकता अपना पांव पसारने लगता है और व्यक्ति कब उसकी चपेट …

Continue reading नकारात्मकता से बाहर आना चाहते हैं तो इसे जानिये