आने वाले वर्ष ( 2022 ) का सन्देश

आज का यह आलेख एक असहनीय पीड़ा में लिखा जा रहा है| अभी अभी एक दुर्घटना में देश ने अपने रक्षा प्रमुख के साथ साथ देश के अप्रतिम वीरों को खोया है| असहनीय पीड़ा इसलिए भी कि ग्रहों और प्रकृति के द्वारा बार बार इस तरह की दुर्घटना का संकेत दिए जाने के बाद भी …

Continue reading आने वाले वर्ष ( 2022 ) का सन्देश

आजादी का अमृत रंग

एक तरफ देश आजादी के अमृत महोत्सव रंग में रंगता चला जा रहा है वहीं दूसरी तरफ ग्रहों ने भी बृहष्पति के मार्गदर्शन में एक नया रंग, अमृत रंग की रचना करनी शुरू कर दी है। 2023 वह वर्ष होगा जब इस रंग से हमारी वर्तमान शिक्षा व्यवस्था ( मैकाले व्यवस्था), अर्थ व्यवस्था और न्याय …

Continue reading आजादी का अमृत रंग

‘धन’ तेरस ( 2 नवंबर 2021 मंगलवार)

कोरोना को लेकर इस वर्ष लोगों की सेहत तो संकट में है ही, घरों से लक्ष्मी भी गायब है| ऐसे में धनतेरस की चर्चा प्रासंगिक हो जाती है| धनतेरस क्या है इसको जानने के साथ साथ धनतेरस के 'धन'  का क्या है गूढ़ अर्थ यह जानेंगे साथ ही ज्योतिष शास्त्र  क्या कहता है धन के …

Continue reading ‘धन’ तेरस ( 2 नवंबर 2021 मंगलवार)

कलयुग का यह काल

कृपाचार्य ने जब अर्जुन के साथ कर्ण के युद्ध पर सवाल उठाए थे तब दुर्योधन ने कर्ण को अंगेश बनाकर न केवल कृपाचार्य के सवालों का जवाब दिया बल्कि आजीवन कर्ण को अपना ॠणी बनाया। कर्ण और दुर्योधन की दोस्ती की नींव डली । महाभारत काल में यह एक महत्वपूर्ण और निर्णायक मोड़ है। कलयुग …

Continue reading कलयुग का यह काल

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव

17 अगस्त को अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानी कब्जे के बाद पहली बार उनके प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने प्रेस कांफ्रेंस के जरिये विश्व से संवाद स्थापित किया| बात का सार यह था कि जो कोई भी इस्लाम के नियम से चलेगा उसे यहाँ कोई परेशानी नहीं होगी|लोगों के जीवन जीने का ढंग, रहन-सहन सब उनकी धार्मिक आस्थाओं …

Continue reading अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव

सूर्य और चंद्र का महत्व

किसी भी व्यक्ति की कुंडली का ज्योतिषीय  विश्लेषण करना हो या प्रकृति का ज्योतिषीय विश्लेषण करना हो तो सर्वप्रथम सूर्य और चंद्र का सूक्ष्मता से विश्लेषण किया जाता है| ज्योतिषशास्त्र में  आखिर नौ ग्रहों में सबसे पहले इन दोनों का विश्लेषण ही क्यों किया जाता है?? इन दोनों का क्या है महत्व?? संसार और शरीर …

Continue reading सूर्य और चंद्र का महत्व

चंद्र (MOON)

नंदी ..ओ ..नंदी .. कहाँ हो.. मामा के घर से घूम के आने के बाद अब कुछ पढ़ भी लो| दो महीने होने को आये,ज्योतिष की क्लास भी नहीं लगी है तुम्हारी| कुछ याद भी है या सबकुछ भूल भल गयी? कुछ नहीं भूले हैं बाबा| सब याद है| बस आ गए कॉपी कलम लेके| …

Continue reading चंद्र (MOON)