Blog

Welcome to my blog

ज्योतिष – जीवन का GPS

फोटो, साभार: Google आधान लग्न ( गर्भाधान लग्न) पर पिछले कुछ वर्षों से निरंतर शोध करने के पश्चात एक बात जिसकी पुनरावृति होती रही वह रहा चतुर्थांश| जन्म लग्न और नवांश तो फिर भी समझ में आता था पर चतुर्थांश की पुनरावृति क्यों? कुंडली में चतुर्थांश का विश्लेषण हम मुख्यतया मकान देखने हेतु करते हैं, …

Continue reading ज्योतिष – जीवन का GPS

कलयुग का यह काल

कृपाचार्य ने जब अर्जुन के साथ कर्ण के युद्ध पर सवाल उठाए थे तब दुर्योधन ने कर्ण को अंगेश बनाकर न केवल कृपाचार्य के सवालों का जवाब दिया बल्कि आजीवन कर्ण को अपना ॠणी बनाया। कर्ण और दुर्योधन की दोस्ती की नींव डली । महाभारत काल में यह एक महत्वपूर्ण और निर्णायक मोड़ है। कलयुग …

Continue reading कलयुग का यह काल


Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.