ब्रह्मांड का रहस्य

इस ब्रह्माण्ड में सब एक दूसरे से जुड़े हुए हैं (Interlinked Destiny) ज्योतिष शास्त्र के कुछ महत्वपूर्ण सूत्रों पर चर्चा के पहले एक कथा में प्रवेश करें- एक गांव में पंडित बुद्धि बाबू अपनी पत्नी के साथ वास करते थे| दस टोले का गांव था|सप्ताह में, महीने में कभी किसी के यहाँ सत्यनारायण की कथा …

Continue reading ब्रह्मांड का रहस्य

सर्वे जना: सुखिनो भवन्तु !!

फोटो, साभार: Google नक्सली मुठभेड़ के साये में गुरु राशि परिवर्तन करके शनि की ही राशि कुंभ राशि में जाकर चंद्र शुक्र शनि केतु और राहु के साथ मिलकर deadly combination तैयार करेगा। हालांकि इसे मंगल और सूर्य का समर्थन नहीं प्राप्त होने की वजह से.. threat may not materialize ... लेकिन दिसंबर माह में …

Continue reading सर्वे जना: सुखिनो भवन्तु !!

‘धन’ तेरस ( 2 नवंबर 2021 मंगलवार)

कोरोना को लेकर इस वर्ष लोगों की सेहत तो संकट में है ही, घरों से लक्ष्मी भी गायब है| ऐसे में धनतेरस की चर्चा प्रासंगिक हो जाती है| धनतेरस क्या है इसको जानने के साथ साथ धनतेरस के 'धन'  का क्या है गूढ़ अर्थ यह जानेंगे साथ ही ज्योतिष शास्त्र  क्या कहता है धन के …

Continue reading ‘धन’ तेरस ( 2 नवंबर 2021 मंगलवार)

मंगल का राशि परिवर्तन देश के लिए कितना मंगल

मंगल राशि परिवर्तन कर जहाँ एक ओर  शुक्र की राशि तुला राशि में प्रवेश लेकर नीच के सूर्य के साथ हुआ है वहीं दूसरी ओर वैसे शनि के साथ परस्पर दृष्टि सम्बन्ध बनाया है जो नीच के गुरु के साथ है| वर्तमान परिदृश्य में (भारत के सन्दर्भ में) क्या होगा इसका असर? वर्तमान परिदृश्य में …

Continue reading मंगल का राशि परिवर्तन देश के लिए कितना मंगल

ज्योतिष – जीवन का GPS

फोटो, साभार: Google आधान लग्न ( गर्भाधान लग्न) पर पिछले कुछ वर्षों से निरंतर शोध करने के पश्चात एक बात जिसकी पुनरावृति होती रही वह रहा चतुर्थांश| जन्म लग्न और नवांश तो फिर भी समझ में आता था पर चतुर्थांश की पुनरावृति क्यों? कुंडली में चतुर्थांश का विश्लेषण हम मुख्यतया मकान देखने हेतु करते हैं, …

Continue reading ज्योतिष – जीवन का GPS

कलयुग का यह काल

कृपाचार्य ने जब अर्जुन के साथ कर्ण के युद्ध पर सवाल उठाए थे तब दुर्योधन ने कर्ण को अंगेश बनाकर न केवल कृपाचार्य के सवालों का जवाब दिया बल्कि आजीवन कर्ण को अपना ॠणी बनाया। कर्ण और दुर्योधन की दोस्ती की नींव डली । महाभारत काल में यह एक महत्वपूर्ण और निर्णायक मोड़ है। कलयुग …

Continue reading कलयुग का यह काल

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव

17 अगस्त को अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानी कब्जे के बाद पहली बार उनके प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने प्रेस कांफ्रेंस के जरिये विश्व से संवाद स्थापित किया| बात का सार यह था कि जो कोई भी इस्लाम के नियम से चलेगा उसे यहाँ कोई परेशानी नहीं होगी|लोगों के जीवन जीने का ढंग, रहन-सहन सब उनकी धार्मिक आस्थाओं …

Continue reading अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबानियों के कब्जे का भारत पर प्रभाव